Home » Layout A, A1, A2, A3

Layout A (one post)

बंदे में है दम

यूपी उच्च न्यायिक सेवा में अव्वल मंजुला

आमतौर पर माना जाता है कि शादी-ब्याह के बाद महिलाओं की पढ़ाई लिखाई मुश्किल हो जाती है और नौकरी-चाकरी के लिए प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी तो दूर की बात है। लेकिन ये नारी शक्ति है। एक बार ठान ले तो हर मुश्किल को पार कर मंज़िल तक पहुंच ही जाती है। आज इंडिया स्टोरी प्रोजेक्ट की कहानी ऐसी ही...

Read More

Layout A2

बंदे में है दम

यूपी उच्च न्यायिक सेवा में अव्वल मंजुला

आमतौर पर माना जाता है कि शादी-ब्याह के बाद महिलाओं की पढ़ाई लिखाई मुश्किल हो जाती है और नौकरी-चाकरी के लिए प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी तो दूर की बात है। लेकिन ये नारी शक्ति है। एक बार ठान ले तो हर...

Read More

Layout A2 (combined with B)

बंदे में है दम

यूपी उच्च न्यायिक सेवा में अव्वल मंजुला

आमतौर पर माना जाता है कि शादी-ब्याह के बाद महिलाओं की पढ़ाई लिखाई मुश्किल हो जाती है और नौकरी-चाकरी के लिए प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी तो दूर की बात है। लेकिन ये नारी शक्ति है। एक बार ठान ले तो हर...

Read More
बंदे में है दम

दोनों हाथ कटे तो पैरों से लिख डाली अपनी तक़दीर

क्या हम कल्पना कर सकते हैं ख़ुद को बिना हाथों के? सोच कर के ही सिहरन होती है कि बिना दोनों हाथ के ज़िंदगी कितनी दुश्वार होगी। लेकिन दुनिया में सैकड़ों ऐसे भी लोग हैं जो...

Read More
बंदे में है दम

मुश्किलों को हरा कर जीतने का जज़्बा

कहते हैं हौसला हो तो कोई काम नामुमकिन नहीं। देवास की रहने वाली अंजलि माधवानी भी ऐसी ही एक मिसाल हैं। इंडिया स्टोरी प्रोजेक्ट में आज हम आपको बताएंगे कि कैसे छोटे से शहर...

Read More

Layout A3

आमतौर पर माना जाता है कि शादी-ब्याह के बाद महिलाओं की पढ़ाई लिखाई मुश्किल हो जाती है और नौकरी-चाकरी के लिए प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी तो दूर की बात है। लेकिन ये नारी शक्ति है। एक बार ठान ले तो हर मुश्किल को पार कर मंज़िल तक पहुंच ही जाती है। आज...

Read More

Layout A (with pagination)

बंदे में है दम

यूपी उच्च न्यायिक सेवा में अव्वल मंजुला

आमतौर पर माना जाता है कि शादी-ब्याह के बाद महिलाओं की पढ़ाई लिखाई मुश्किल हो जाती है और नौकरी-चाकरी के लिए प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी तो दूर की बात है। लेकिन ये नारी शक्ति है। एक बार ठान ले तो हर मुश्किल को पार कर मंज़िल तक पहुंच ही जाती है। आज इंडिया स्टोरी प्रोजेक्ट की कहानी ऐसी ही...

Read More
Livelihood and Economy

Waterpreneur with a difference

ISP Delhi Bureau  His venture is helping the nation save lakhs of litres of water. He left his well settled corporate position to become a water entrepreneur. Amit Doshi is the founder of NeeRain, a start-up committed to the cause of addressing the global crisis of water.  Innovation...

Read More
Sustainable Earth

Fighting against menstrual stigma 

ISP Mumbai Bureau  Anisha Bhatia is the communications head of The Period Society. A Mumbai-based youth-led non-profit organisation that was launched in 2019 to work for female health and hygiene. With an all girls founders team, Anisha and her co-workers are working towards ending...

Read More
बंदे में है दम

दोनों हाथ कटे तो पैरों से लिख डाली अपनी तक़दीर

क्या हम कल्पना कर सकते हैं ख़ुद को बिना हाथों के? सोच कर के ही सिहरन होती है कि बिना दोनों हाथ के ज़िंदगी कितनी दुश्वार होगी। लेकिन दुनिया में सैकड़ों ऐसे भी लोग हैं जो या तो किसी हादसे की वजह से या फ़िर किसी शारीरिक परेशानी की वजह से दोनों हाथ गंवा बैठे हैं लेकिन ख़ास बात ये है कि...

Read More
बंदे में है दम

मुश्किलों को हरा कर जीतने का जज़्बा

कहते हैं हौसला हो तो कोई काम नामुमकिन नहीं। देवास की रहने वाली अंजलि माधवानी भी ऐसी ही एक मिसाल हैं। इंडिया स्टोरी प्रोजेक्ट में आज हम आपको बताएंगे कि कैसे छोटे से शहर की रहने वाली अंजलि ने अपने जीवन के लिए अपने मुताबिक रास्ता उस वक़्त और परिस्थिति में चुना जिस वक़्त और परिस्थिति में...

Read More